MCQ on Physics in Hindi [Question Bank Set 13]

MCQ on Physics in Hindi [Question Bank Set 13]

MCQ on Physics in Hindi [Question Bank Set 13]


Here we are going to share the most important MCQ on Physics in Hindi [Question Bank Set 13]. These GK questions are very helpful for various government exams e.g. UPSC, SSC, Railway, Banking, State PSC, CDS, NDA, SSC CGL, SSC CHSL, Patwari, Samvida, Police, SI, CTET, TET, Army, MAT, CLAT, NIFT, IBPS PO, IBPS Clerk, CET, Vyapam etc.


Physics Question Bank [Check All Category]

←:Jump To These Pages:→


Q1. हमारी आँखें बैगनी वण॔ की अपेक्षा नीले वण॔ के लिय----- है ?
A. कम सुग्राही
B. अधिक सुग्राही
C. अनिश्चित
D. उपरोक्त तीनो गलत
Ans: अधिक सुग्राही

Q2. प्रकाशमिति की तीन प्रमुख भौतिक राशियाँ कौन-कौन सी है ?
A. स्त्रोत की ज्योति तीव्रता
B. ज्योति फ्लक्स
C. पृ्षठ का प्रदीप्त घनत्व
D. उपरोक्त सभी
Ans: उपरोक्त सभी

Q3. तरंगं गति का वैज्ञानिक विश्लेषण सव॔प्रथम किस शताब्दी मे किया गया था ?
A. 16 वी शताब्दी
B. 17 वी शताब्दी
C. 18 वी शताब्दी
D. 19 वी शताब्दी
Ans: 17 वी शताब्दी

Q4. किस वैज्ञानिक ने न केवल अणुओ को देखने मे सफलता पाई वरन् वह उनकी विस्तृ्त पारस्परिक अन्योन्यक्रियाओ को भी देख सके ?
A. माका॔॓नी
B. अहमद जेवैल
C. नील बोर
D. हीडलबग॔
Ans: अहमद जेवैल

Q5. वैज्ञानिक आण्विक सिध्दातं की खोज का श्रेय प्रायः किसे दिया जाता है ?
A. मैक्स प्लांक
B. डाल्टन
C. जोसेफ प्राउस्ट
D. टेस्ला
Ans: डाल्टन

Q6. दो तापों के मध्य कार्य करने वाला कोई उत्क्रमणीय उष्मा ईजन क़्या कहलाता है ?
A. परिवहन ईजन
B. तंरग ईजन
C. काना॓॔ ईजन
D. प्रकाश ईजन
Ans: काना॓॔ ईजन

Q7. ऊष्मागतिकी का दूसरा नियम किसने दिया ?
A. एमेदियो आवोगाद्रो
B. यंग
C. डेविड बोर
D. रुडोल्फ क्लासियस
Ans: रुडोल्फ क्लासियस

Q8. लाड॔ केल्विन ने जूल के सहयोगी के रुप मे कार्य करके किस नियम का प्रतिपादन किया ?
A. जूल-थाॅमसन प्रभाव
B. विनाशी व्यतिकरण
C. डाॅप्लर प्रभाव
D. क़णिका मॉडल
Ans: जूल-थाॅमसन प्रभाव

Q9. लाड॔ केल्विन का जन्म कहाँ हुआ था ?
A. जम॔नी
B. डेनमाक
C. वेल्फास्ट,आयरलैड़
D. हंगरी
Ans: वेल्फास्ट,आयरलैड़

Q10. वे चर जो हर भाग मे अपरिवति॔त रहते हैं क्या कहलाता है ?
A. सुक्ष्म चर
B. गहन चर
C. हरा चर
D. विस्तृत चर
Ans: गहन चर

Q11. कथन (A) लोहे का एक गोला पारे पर तैरता है, किन्तु पानी में डूब जाता है | कारण (R) लोहे का आपेक्षिक घनत्व पारे के आपेक्षिक घनत्व से अधिक होता है |
A. A और R दोनों सही हैं तथा R, A की सही व्याख्या है
B. A और R दोनों सही हैं,परन्तु तथा R, A की सही व्याख्या नहीं है
C. A गलत है, किन्तु R सही है
D. A सही है, किन्तु R गलत है
Ans: A गलत है, किन्तु R सही है

Q12. निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिए 1. 100 डिग्री C पर भाप तथा 100 डिग्री C पर उबलते जल में ऊष्मा की मात्रा एक समान होती है | 2. बर्फ की संगलन गुप्त ऊष्मा तथा जल की वाष्पन गुप्त ऊष्मा बराबर होती है | 3. वातानुकूलक में कक्ष वायु में से वाष्पित कुण्डली में ऊष्मा का निष्कर्षण होता है तथा द्रवित कुण्डली पर ऊष्मा का निरसन होता है | उपरोक्त कथनों में कौन-से कथन सही हैं ?
A. 1 और 2
B. 2 और 3
C. केवल 2
D. केवल 3
Ans: केवल 3

Q13. निम्नलिखित में से किस एक में ध्वनि -चाल सबसे अधिक होती है
A. 0 डिग्री C वायु में
B. 100 डिग्री C पर वायु में
C. जल में
D. लकड़ी में
Ans: लकड़ी में

Q14. अगर एक आलू को कागज की सफेद बिना प्लेट के ऊपर रखकर सूक्ष्म तरंग ओवन में रख दिया जाए तो आलू गर्म हो जाता है, परन्तु प्लेट नहीं | यह इस कारण है कि
A. आलू मुख्यतः स्टार्च का बना होता है, जबकि कागज मुख्यतः सेल्युलोज का बना होता है
B. आलू में से सूक्ष्म तरंगे निकल जाती हैं, जबकि कागज सूक्ष्म तरंगों को परावर्तित कर देता है
C. आलू में पानी होता है, जबकि कागज में पानी नहीं होता
D. आलू एक ताजा कार्बनिक पदार्थ है, जबकि कागज मृत कार्बनिक पदार्थ है
Ans: आलू में पानी होता है, जबकि कागज में पानी नहीं होता

Q15. कड़े जाड़े में झील की सतह हिमशीतित हो जाती है, किन्तु उसके तल में जल द्रव अवस्था में बना रहता है | यह किस कारण से होता है ?
A. बर्फ ऊष्मा की कुचालक है
B. झील की सतह और वायु का तापमान एक-सा होने के कारण ऊष्मा कोई हानि नहीं होती
C. जल की सघनता 4 डिग्री C पर अधिकतम होती है
D. उपरोक्त में से कोई नहीं
Ans: बर्फ ऊष्मा की कुचालक है

Q16. अन्तरिक्ष में कई सौ किमी/से की गति से यात्रा कर रहे विद्युत-आवेशी कण यदि पृथ्वी के धरातल पर पहुँच जाएँ, तो जीव-जन्तुओं को गम्भीर नुकसान पहुँचा सकते हैं | ये कण किस कारण से पृथ्वी के धरातल पर नहीं पहुँच पाते ?
A. पृथ्वी की चुम्बकीय शक्ति उन्हें ध्रुवों की ओर मोड़ देती है
B. पृथ्वी के इर्द-गिर्द की ओजोन परत उन्हे बाह्या अन्तरिक्ष में परावर्तित कर देती हैं
C. वायुमण्डल की ऊपरी परतों में उपस्थित आर्द्रता उन्हें पृथ्वी के धरातल पर नहीं पहुँचने देती
D. उपरोक्त में से कोई नहीं
Ans: पृथ्वी की चुम्बकीय शक्ति उन्हें ध्रुवों की ओर मोड़ देती है

Q17. कुछ लोगों का सोचना है कि तेजी से बढ रही ऊर्जा की जरूरत पूरी करने के लिए भारत को थोरियम को नाभिकीय ऊर्जा के भविष्य के ईंधन के रूप में विकसित करने के लिए शोध और विकास करना चाहिए | इस सन्दर्भ में थोरियम,यूरेनियम की तुलना में कैसे अधिक लाभकारी है ? 1. प्रकृति में यूरेनियम की तुलना में थोरियम के कहीं अधिक भण्डार हैं ? 2. उत्खनन -प्राप्त खनिज से मिलने वाली प्रति इकाई द्रव्यमान ऊर्जा की तुलना की जाए, तो थोरियम,प्राकृतिक यूरेनियम की तुलना में, कहीं अधिक ऊर्जा उत्पन्न करता है | 3. थोरियम, यूरेनियम की तुलना में, कम नुकसानदेह अपशिष्ट उत्पादित करता है |
A. केवल 1
B. 2 और 3
C. 1 और 3
D. 1,2 और 3
Ans: 1,2 और 3

Q18. निकट अतीत में हिग्स बोसॉन कण के अस्तित्व के संसूचना के लिए किए गए प्रयत्न लगातार समाचारों में रहे हैं | इस कण की खोज का क्या महत्व है ? 1. यह हमें समझने में मदद करेगा कि मूल कणों में संहति क्यों होती है | 2. यह निकट भविष्य में, हमें दो बिन्दुओं के बीच के भौतिक अन्तराल को पार किए बिना, एक बिन्दु से दूसरे बिन्दु तक पदार्थ स्थानान्तरित करने की प्रौद्योगिकी विकसित करने में मदद करेगा | 3. यह हमें नाभिकीय विखण्डन के लिए बेहतर ईंधन उत्पन्न करने में मदद करेगा |
A. केवल 1
B. 2 और 3
C. 1 और 3
D. 1,2 और 3
Ans: केवल 1

Q19. प्रकृति के ज्ञात बलों को चार वर्गों में विभाजित किया जा सकता है, जैसे कि गुरूत्व, विद्युत -चुम्बकत्व, दुर्बल नाभिकीय बल और प्रबल नाभिकीय बल | उनके सन्दर्भ में, निम्नलिखित कथनों में से कौन-सा एक सही नहीं हैं ?
A. गुरूत्व चारों में सबसे प्रबल है
B. विद्युत-चुम्बकत्व सिर्फ विद्युत आवेश वाले कणों पर क्रिया करता है
C. दुर्बल नाभिकीय बल विघटनाभिकता का कारण है
D. प्रबल नाभिकीय बल परमाणु के केन्द्रक में प्रोटॉनों और न्यूट्रॉनों को धारित किए रखता है
Ans: गुरूत्व चारों में सबसे प्रबल है

Q20. सौर शक्ति उत्पादन के लिए प्रौद्योगिकियों के सन्दर्भ में निम्नलिखित कथनों पर विचार कीजिए 1. 'प्रकाशवोल्टीय प्रक्रिया ' एवं प्रौद्योगिकी है, जो कि प्रकाश के विद्युत में प्रत्यक्ष रूपान्तरण विद्युत जनन करती है, जबकि 'सौर तापीय प्रक्रिया' एक प्रौद्योगिकी है, जो सूर्य की किरणों का उपयोग ताप जनित करने के लिए करती है, जिसका आगे विद्युत जनन प्रक्रिया में उपयोग किया जाता है | 2. प्रकाशवोल्टीय प्रक्रिया प्रत्यावर्ती धारा का जनन करती है, जबकि सौर तापीय दिष्ट धारा का जनन करती है | 3. भारत के पास सौर तापीय प्रौद्योगिकी के लिए विनिर्माण आधार है, किन्तु प्रकाशवोल्टीय प्रौद्योगिकी के लिए नहीं | उपरोक्त कथनों में कौन-सा/से कथन सही है/ हैं ?
A. केवल 1
B. 2 और 3
C. 1,2 और 3
D. उपरोक्त में से कोई नहीं
Ans: केवल 1

Q21. ऊष्मागतिकी अवस्था चर कौन - कौन है ?
A. विस्तीण॔
B. गहन
C. उपरोक्त दोनो
D. दोनो गलत
Ans: उपरोक्त दोनो

Q22. SI मात्रक पध्दति मे उष्मा का मात्रक क्या है ?
A. प्वाज (P1)
B. mm (HG)
C. जूल (J)
D. उपरोक्त तीनो गलत
Ans: जूल (J)

Q23. ऊष्मागतिकी के किस नियम से ताप की अवधारणा की उत्पत्ति हुई ?
A. बाॅयल-नियम
B. आव॔तकाल
C. प्रोप
D. शून्य क़ोटि नियम
Ans: शून्य क़ोटि नियम

Q24. 1931 मे किसने शून्य कोटि नियम का प्रतिपादन किया था ?
A. डेनियल बनू॔ली
B. जॉन डाल्टन
C. राबट॔ हुक
D. आर.एच.फाउलर
Ans: आर.एच.फाउलर

Q25. ऊष्मा स्थानांतरण की किस विधि को किसी माध्यम की आवश्यकता नही होती ?
A. विकिरण
B. चालन
C. संवहन
D. उपरोक्त तीनो
Ans: विकिरण




Join our Facebook Page:
 Super Pathshala 


Join our Facebook Group:
 SSC Railway GK Aptitude 


Join our Telegram Channel:
 SSC CGL 


Join our Telegram Group:
 SSC CGL 


Join our Telegram Channel:
 Govt Exam Books and Notes PDF 




MCQ on Physics in Hindi [Question Bank Set 13] MCQ on Physics in Hindi [Question Bank Set 13] Reviewed by Super Pathshala on 04:47 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.